CATEGORIES

July 2024
MTWTFSS
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031 
July 15, 2024
Sleeping Divorce

Sleeping Divorce: कपल्स के बीच पांव पसार रहा ये ट्रेंड, बढ़ सकती है मुश्किलें!

आज के वक्त में रिलेशनशिप कई प्रकार से बदलने लगे हैं। आए दिन इसके लिए एक नया ट्रेंड या नया शब्द कहीं न कहीं सुनने में मिल जाता है। कहीं सिचुएनशिप तो कहीं बेंचिंग और न जाने क्या क्या! ऐसे ही एक और नया शब्द ट्रेंड में निकला है वो है स्लीप डिवोर्स (Sleeping Divorce) सुनने में ये शब्द बहुत ही नेगेटिव भले ही लग रहा है, लेकिन इसका मतलब बिल्कुल अलग है।

Sleeping Divorce एक ऐसा शब्द है जिसका इस्तेमाल उन शादीशुदा जोड़ों के लिए किया जाता है जो एक ही घर में रहते हुए अलग-अलग सोते हैं। यह एक औपचारिक तलाक नहीं है, बल्कि यह एक ऐसी व्यवस्था है जिससे जोड़े अपनी नींद की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं और अपनी शादी को बचा सकते हैं।

Sleeping Divorce के कारण- 

अलग-अलग नींद की आदतें: एक व्यक्ति को जल्दी सोना और जल्दी उठना पसंद हो सकता है, जबकि दूसरा व्यक्ति देर रात तक सोना और देर से उठना पसंद कर सकता है। इससे नींद के शेड्यूल को लेकर झगड़े हो सकते हैं।

खर्राटे लेना: यदि एक व्यक्ति जोर से खर्राटे लेता है, तो यह दूसरे व्यक्ति के लिए सोना मुश्किल बना सकता है।

अलग-अलग नींद की गतिविधियाँ: एक व्यक्ति सोने से पहले पढ़ना या टीवी देखना पसंद कर सकता है, जबकि दूसरा व्यक्ति अंधेरे और शांत कमरे में सोना पसंद कर सकता है।

मेडिकल कंडीशन: कुछ मेडिकल कंडीशन, जैसे कि स्लीप एपनिया, नींद में खलल डाल सकती हैं।

Sleeping Divorce से होने वाले फायदे-

बेहतर नींद: अलग सोने से प्रत्येक व्यक्ति को अपनी नींद की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिल सकती है, जिससे उन्हें बेहतर नींद आ सकती है।

कम तनाव: नींद की कमी से होने वाले तनाव और चिड़चिड़ापन को कम करने में मदद मिल सकती है।

मजबूत रिश्ता: बेहतर नींद और कम तनाव से शादीशुदा जोड़ों के बीच संबंध मजबूत हो सकते हैं।

Sleeping Divorce से होने वाले नुकसान- 

भावनात्मक दूरी: अलग सोने से जोड़ों के बीच भावनात्मक दूरी बढ़ सकती है।
अकेलापन: एक व्यक्ति को अकेलापन और अलग-थलग महसूस हो सकता है।
संभोग में कमी: अलग सोने से यौन अंतरंगता कम हो सकती है।

यदि आप और आपका जीवनसाथी Sleeping Divorce पर विचार कर रहे हैं, तो कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है:

इस बारे में खुलकर बात करें: एक-दूसरे से अपनी नींद की जरूरतों और चिंताओं के बारे में खुलकर बात करें।
समझौता करें: एक ऐसी व्यवस्था खोजने के लिए मिलकर काम करें जो आप दोनों के लिए काम करे।
धैर्य रखें: स्लीपिंग डिवोर्स को सफल बनाने में समय लग सकता है।
पेशेवर मदद लें: यदि आपको संघर्ष करना पड़ रहा है, तो डॉक्टर से बात करने में संकोच न करें।

यह ध्यान रखना जरूरी है कि स्लीपिंग डिवोर्स सभी के लिए सही नहीं है। यह तय करने से पहले कि क्या यह आपके लिए सही है, इसके संभावित लाभों और जोखिमों पर सावधानीपूर्वक विचार करना महत्वपूर्ण है। यदि आप स्लीपिंग डिवोर्स पर विचार कर रहे हैं, तो अपने डॉक्टर या वैवाहिक चिकित्सक से बात करना एक अच्छा विचार है।