CATEGORIES

June 2024
MTWTFSS
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
June 15, 2024

विश्व रेडियो दिवस-2021

13 Feb. Vadodara: रेडियो का वो ज़माना याद है जब सुबह हमारी अखबार में छपी ख़बरों से और रेडियो में बज रही मीठी सुरीली आवाज़ों से होती थी। चाय की चुस्कियां हों या बिजली की कड़कड़ाट वाला बारिश का मौसम। मगर अब तो फ़ोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट के ज़माने में रेडियो कहीं लुप्त सा हो गया है। लेकिन क्या रेडियो के बारे में ये ख़ास बातें जानते हैं आप?

रेडियो कम्युनिकेशन का सबसे इफेक्टिव माध्यम है। रेडियो से कई जानकारियां हमें प्राप्त होती हैं। पिछले 110 वर्षों के बाद भी, रेडियो कहीं न कहीं लोगों को जोड़ने का काम भी करता है। ख़ास कर उन लोगों के लिए जो लोग दूर दराज़ के इलाकों में रहते हैं।

रेडियो, इसकी महिमा में, युगों के लिए मनोरंजन और सूचना के मुख्य स्रोतों में से एक रहा है। इसे मनाने के लिए, 2011 में यूनेस्को के एक सदस्य ने 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस के रूप में घोषित किया।

विश्व रेडियो दिवस, यूनेस्को के 10 वीं वर्षगांठ और 110 से अधिक वर्षों के रेडियो का जश्न मनाया जा रहा है। यूनेस्को के अनुसार, इस विश्व रेडियो दिवस संस्करण को तीन मुख्य उप-थीमों में विभाजित किया गया है – विकास (एवोलुशन), नवाचार (इनोवेशन), और कनेक्शन।

विकास: दुनिया बदलती है, रेडियो विकसित होता है। यह उप-थीम रेडियो के लचीलेपन से लेकर उसकी स्थिरता तक को संदर्भित करती है।

इनोवेशन: दुनिया बदलती है, रेडियो एडाप्ट करता है और इनोवेट करता है। रेडियो को नई तकनीकों के अनुकूल होना पड़ा है ताकि गतिशीलता के माध्यम से, हर जगह और हर किसी तक पहुंच बना सके।

कनेक्शन: रेडियो लोगों को जोड़ता है। यह उप-विषय हमारे समाज में प्राकृतिक आपदाओं, सामाजिक-आर्थिक संकटों, महामारियों आदि के लिए रेडियो की सेवाओं पर प्रकाश डालता है।

आज भी, इसकी लागत दक्षता की वजह से रेडियो की कहीं न कहीं मांग है, इसकी पहुंच व्यापक दर्शकों और स्थानीय से लेकर वैश्विक तक विस्तृत कार्यक्रमों तक है। लेकिन प्राकृतिक आपदाओं के आने पर आपातकालीन संचार में रेडियो का उपयोग सबसे महत्वपूर्ण है।

विश्व रेडियो दिवस 2011 में अस्तित्व में आया लेकिन संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2012 में अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में अपनाया गया। हर साल, दिन को एक अलग थीम के साथ मनाया जाता है।

भारत में 1920 के दशक की शुरुआत में पहला रेडियो प्रसारण शुरू हुआ। पहला कार्यक्रम 1923 में रेडियो क्लब ऑफ बॉम्बे द्वारा प्रसारित किया गया था।