CATEGORIES

July 2024
MTWTFSS
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031 
July 15, 2024

पुणे में जीका वायरस की एंट्री! गर्भवती महिलाओं को ज्यादा खतरा, जानें बचाव के उपाय

देश में जीका वायरस के अब तक 6 केस मिलने के बाद लोगों में हड़कंप मच गया है। पिछले कुछ दिनों में यह संक्रमम फैलने के बाद लोगों की टेंशन बढ़ गई है। डॉक्टर्स के अनुसार यह वायरस मच्छरों के काटने से फैलता है और बारिश का मौसम होने की वजह से यह अपने पैर पसार रहा है।

जीका वायरस एक प्रकार का इंफेक्शन है और इससे प्रेग्नेंट महिलाओं को सबसे ज्यादा खतरा हो सकता है। ऐसे में सभी लोगों को इस वायरस से बचने की कोशिश करनी चाहिए।

जीका वायरस एक मच्छर-बोर्न वायरस है जो मुख्य रूप से एडीज मच्छरों (Aedes mosquitoes) के काटने से फैलता है। इस वायरस के लक्षण और बचाव निम्नलिखित हैं:

जीका वायरस के लक्षण:

बुखार: हल्का या मध्यम बुखार हो सकता है।
दाने: शरीर पर लाल दाने आ सकते हैं।
जोड़ों में दर्द: विशेष रूप से हाथों और पैरों के छोटे जोड़ों में दर्द।
मांसपेशियों में दर्द: सामान्य मांसपेशियों में दर्द।
सिरदर्द: हल्का सिरदर्द हो सकता है।
आंखों में जलन: आंखें लाल हो सकती हैं और जलन हो सकती है।

बचाव:

मच्छर से बचाव:

मच्छरदानी का उपयोग करें।
लंबी बाजू के कपड़े पहनें।
मच्छर निरोधक (insect repellent) का उपयोग करें।

पानी को जमा न होने दें:

खुले बर्तनों में पानी जमा न होने दें।
घर के आसपास पानी की टंकियों और गमलों में पानी जमा न होने दें।

साफ-सफाई:

घर और आसपास के क्षेत्रों की साफ-सफाई रखें।
कचरे को सही तरीके से निपटान करें।

यात्रा में सतर्कता:

जीका वायरस प्रभावित क्षेत्रों में यात्रा करने से पहले स्वास्थ्य सलाह लें।

गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष ध्यान:

गर्भवती महिलाएं विशेष सावधानी बरतें क्योंकि जीका वायरस गर्भस्थ शिशु को नुकसान पहुंचा सकता है। अगर आपको जीका वायरस के लक्षण दिखते हैं तो चिकित्सक से संपर्क करें और आवश्यक चिकित्सा सलाह लें।