CATEGORIES

July 2024
MTWTFSS
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031 
July 15, 2024
twitter-1024x581

किसान आंदोलन के बीच ट्विटर ने किये 500 अकाउंट्स परमानेंट सस्पेंड

10 Feb. Vadodara: किसान आंदोलन के बीच चल रहे ट्विटर बोर में सरकार ने ट्विटर को पहले चेतावनी दी थी जिसके बाद अब सरकार की चेतावनी पर ट्विटर ने आज 500 टि्वटर एकाउंट्स को परमानेंट सस्पेंड कर दिया है। तो वहीं आपत्तिजनक कंटेंट और हैशटैग की विजिबिलिटी को भी घटा दिया है। किसान आंदोलन के बीच सोशल मीडिया को लेकर सरकार की सख्ती के चलते ट्विटर ने यह कदम उठाया है।

सोशल मीडिया कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी और बताया कि जिन अकाउंट्स को सस्पेंड किया गया है, वे कंपनी की पॉलिसी का वायलेशन कर रहे थे।

सरकार ने आईटी एक्ट की धारा 69A के तहत सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को नोटिस दिया गया था। नोटिस में कहा था कि ट्विटर एक्शन नहीं लेगा तो उस पर कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

ट्विटर के मुताबिक पिछले हफ्तों में हुई हिंसा की घटनाओं को देखते हुए आपत्तिजनक कंटेंट वाले हैशटेग की विजिबिलिटी भी कम कर दी गई है। साथ ही कहा कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस को हुई हिंसा के बाद भारत में अपने नियमों को लागू करवाने के लिए जो कदम उठाए जा रहे हैं, उनके बारे में रेगुलर अपडेट दे रहे हैं।

ट्विटर ने यह भी बताया कि कुछ अकाउंट्स ऐसे भी हैं, जिन्हें भारत में ब्लॉक किया गया है, लेकिन वे दूसरे देशों में एक्सेस रहेंगे। साथ ही कहा, ‘फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन को प्रोटेक्ट करते हुए न्यूज मीडिया, पत्रकार, एक्टिविस्ट और पॉलिटिशियन से जुड़े किसी अकाउंट पर एक्शन नहीं लिया गया है, क्योंकि हमें नहीं लगता कि सरकार ने जो निर्देश दिए हैं वे भारतीय कानून के मुताबिक हैं।’

ट्विटर ने कुछ हैंडल्स पर सख्ती नहीं बरतने की जो वजह बताई है, उस पर भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने निशाना साधा है। सूर्या ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘ऐसा लगता है कि ट्विटर खुद को भारतीय कानून से ऊपर समझता है। वह खुद ही तय कर रहा है कि क्या कानून मानना है और क्या नहीं।’

न्यूज एजेंसी के सूत्रों के बताया कि, सरकार ने 2 दिन पहले ट्विटर से 1,178 पाकिस्तानी-खालिस्तानी अकाउंट्स हटाने को कहा था। सरकार का कहना था कि इन अकाउंट्स के जरिए किसान आंदोलन से जुड़ी गलत जानकारियां और भड़काऊ बातें फैलाई जा रही है।

ट्विटर ने बताया कि पिछले 10 दिनों में मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रोनिक्स एंड आईटी की तरफ से कई आदेश मिलने के बाद, विवादित अकाउंट्स को ब्लॉक करने के लिए कहा गया था। इसके साथ ट्विटर का यह भी कहना है कि ओपन इंटरनेट और फ्री एक्सप्रेशन को मजबूती देने वाली वैल्यूज के लिए दुनियाभर में खतरा बढ़ रहा है।