CATEGORIES

June 2024
MTWTFSS
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
June 19, 2024
WhatsApp-Image-2021-04-23-at-4.52.38-PM

प्रधानमंत्री के साथ मीटिंग को केजरीवाल ने कर दिया लाइव टेलीकास्ट

23-04-21 Friday

 

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की शुक्रवार को हुई बैठक में अजीब वाकया सामने आया। बैठक का मुद्दा कोरोना के बिगड़ते हालात थे, लेकिन पूरी बात इस बैठक का दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा लाइव टेलीकास्ट कर दिए जाने पर जा अटकी।दरअसल, 10 राज्यों के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ ऑनलाइन जुड़े हुए थे। जैसे ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बोलने की बारी आई तो मीटिंग का लाइव टेलीकास्ट देश के टीवी चैनलों पर चलने लगा। केजरीवाल का लहजा सख्त था।

केजरीवाल प्रधानमंत्री से कह रहे थे- हम आभारी हैं कि केंद्र सरकार ने दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा बढ़ा दिया, लेकिन हालात बहुत गंभीर हो चुके हैं। हम किसी को मरने के लिए नहीं छोड़ सकते। हमने पिछले दिनों केंद्र के कई मंत्रियों को फोन किए। उन्होंने पहले मदद की, पर अब तो वो भी थक गए हैं।
प्रधानमंत्रीजी अगर दिल्ली में ऑक्सीजन की फैक्ट्री नहीं है तो क्या दो करोड़ लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिलेगी? जिन राज्यों में ऑक्सीजन प्लांट हैं, वो दूसरों की ऑक्सीजन रोक सकते हैं क्या? अगर किसी अस्पताल में एक-दो घंटे की ऑक्सीजन बच जाए या ऑक्सीजन रुक जाए और लोगों की मौत की नौबत आ जाए तो मैं फोन उठाकर किससे बात करूं? कोई ट्रक रोक ले तो किससे बात करूं? आप बस ये बता दीजिए। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए
एक नेशनल प्लान बनना चाहिए। इसके तहत देश के सभी ऑक्सीजन प्लांट को आर्मी के जरिए सरकार टेकओवर करे। हर ट्रक के साथ आर्मी का एस्कॉर्ट व्हीकल रहेगा तो कोई उसे नहीं रोक पाएगा।

इसके बाद सभी चैनलों पर ये प्रसारण एकदम से रुक गया। तब दिन के करीब 12 बज रहे थे। इसके करीब दो घंटे बाद चैनलों पर केजरीवाल फिर दिखे।

अब वो बोल रहे थे, ‘मेरा विश्वास है कि इस देश में अगर एक नेशनल प्लान होगा तो हम सभी राज्य सरकारें केंद्र के साथ मिलकर काम करेंगे। सर कोरोना की वजह से दिवंगत आत्माओं को शांति मिले…’

तभी मोदी केजरीवाल को टोकते हुए कहते हैं, ‘एक मिनट, एक बात मैं कहना चाहूंगा कि ये हमारी जो परंपरा है, हमारे जो प्रोटोकॉल हैं, उसके खिलाफ हो रहा है कि कोई मुख्यमंत्री ऐसी इनहाउस मीटिंग को लाइव टेलीकास्ट करे। ये उचित नहीं है, हमें हमेशा संयम पालन करना चाहिए।’