CATEGORIES

June 2024
MTWTFSS
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
June 15, 2024

सचिन वझे मामले में CM उद्धव ने तीनों दलों के मंत्रियों को बातचीत के लिए बुलाया

16 Mar. Maharashtra: महाराष्ट्र में एंटीलिया केस के बीच मंत्रिमंडल में फेर बदल की खबरें उड़ रही हैं। दरहसल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ पर महाविकास अघाड़ी के तीनों घटक दलों के बड़े मंत्रियों की मीटिंग बुलाई है। इस बैठक में मुख्यमंत्री एंटीलिया केस में गिरफ्तार सचिन वझे को लेकर सभी प्रमुख मंत्रियों से बातचीत कर रहे हैं। और माना जा रहा है कि इस मामले से जुड़े अपडेट्स भी वे सभी मंत्रियों को ब्रीफ करेंगे। बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और NCP की साझा सरकार है।

मंत्रिमंडल पर फेरबदल को लेकर चर्चा की आशंका

जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ इस बैठक में डिप्टी मुख्यमंत्री अजित पवार, मंत्री एकनाथ शिंदे, बालासाहब थोराट, अनिल परब और जयंत पाटिल भी मौजूद हैं। सूत्रों की मानें तो बैठक में भाजपा की ओर से लगातार सरकार को घेरे जाने के प्रयास कमजोर करने पर रणनीति बनाई जा रही है।

इस बैठक के बाद सरकार डैमेज कंट्रोल के लिए पुलिस के कुछ बड़े अधिकारियों का तबादला कर सकती है। जिसमें सबसे पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का नाम सामने आ रहा है। चर्चा यह भी है कि इस बैठक के बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है।

शरद पवार के निर्देश पर बैठक बुलाई

बता दें कि धनंजय मुंडे प्रकरण, टिक टॉक स्टार पूजा चव्हाण की मौत का मामला और सचिन वझे की गिरफ्तारी के बाद से सरकार लगातार बैकफुट पर है। इसलिए, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने सोमवार को उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। एक घंटे चली इस मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि पवार के कहने पर ही मंगलवार को उद्धव ने मंत्रियों की यह बैठक बुलाई है।

राम कदम के कई सवाल

इस मामले में भारतीय जनता पार्टी लगातार सरकार पर हमलावर है। भाजपा नेता राम कदम ने मंगलवार को सोशल मीडिया के माध्यम से कई सवाल उठाएं हैं।

कदम के क्या सवाल हैं?

एक साधारण API जैसा अफसर इतना बड़ा षड्यंत्र क्या अकेला कर सकता है? महाराष्ट्र में न साधु-संत सुरक्षित हैं, न ही अंबानी जैसे उद्योगपति।

क्या जल्द ही होने वाले BMC चुनाव के लिए अंबानी जैसे उद्योगपति को डराकर धन जुटाना किसी का मकसद था?

हमारा सवाल है शिवसेना और उनके साथी वझे की खुलकर वकालत करते हुए उसका बचाव क्यों कर रहे हैं?

क्या संगीन आरोप वाले व्यक्ति को बचाना उचित है?

फडणवीस ने कहा- मनसुख की हत्या का मामला अभी अनसुलझा

विपक्ष के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इसी मामले में कहा है कि, मनसुख हिरेन की हत्या का मामला अभी भी अनसुलझा है। भाजपा तब तक इस मामले में चुप नहीं रहेगी जब तक उनके हत्यारों को सजा नहीं मिल जाती।